...

 

नागरिक चार्टर

इतिहास

  • सन्‍ 1901 में महारानी विक्टोरिया के निधन पर ब्रिटिश भारत के तत्कालीन वायसराय लार्ड कर्जन ने इस स्मारक के निर्माण की परिकल्पना बनाई थी।
  • यह योजना थी कि इसे महारानी की स्मृति में एक जीवन्त संस्थान बनाया जायेगा, जिसमें भारत- ब्रिटिश इतिहास पर खास बल दिया जायेगा।
  • 64 एकड़ जमीन पर इस मेमोरियल का निर्माण कराया गया।
  • भारतीय राजाओं एवं आम जनता से उन दिनों 80 लाख रुपये चंदा संग्रह किया गया।
  • 4 जनवरी 1906 को वेल्स के प्रिंस ने, जो बाद में जार्ज पंचम बने थे, इस स्मारक की आधारशिला रखी थी।
  • सन् 1921 में आम जनता के लिए इसका उद्घाटन किया गया था।

संचालन

  • यह संस्कृति मंत्रालय के अधीन एक स्वायत्त संगठन है।
  • विक्टोरिया मेमोरियल हाल का संचालन निम्नलिखित से होता है:
  • विक्टोरिया मेमोरियल अधिनियम, 1903 (समय-समय पर संशोधित)
  • विक्टोरिया मेमोरियल नियम, 1973
  • विक्टोरिया मेमोरियल सेवा नियम, 1987
  • विक्टोरिया मेमोरियल हाल के ट्रस्ट को यह अधिकार है कि वह संपत्ति का अधिग्रहण कर सकता है, उसे रख सकता है, करार कर सकता है, इन अधिनियमों के उद्देश्यों के तहत समस्त कदम उठा सकता है।
  •  सचिव एवं संग्रहाध्यक्ष विक्टोरिया मेमोरियल हाल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

हमारा लक्ष्य

  • 18वीं- 19वीं सदी के भारत- ब्रिटिश इतिहास पर विश्व का एक प्रमुख अवधि संग्रहालय बनना।

हमारा कार्य

  • विक्टोरिया मेमोरियल हाल का मिशन है एक प्रमुख कला वीथी, संग्रहालय, शोध पुस्तकालय, कोलकाता के इतिहास का केंद्र के रूप में कार्य करना।
  • इस मिशन को पूरा करने के लिए यह 18वीं, 19वीं, 20वीं सदी  के भारतीय इतिहास से संबंधित वस्तुओं, दस्तावेजों का संग्रह तथा संरक्षण करता है और आम जनता को उसके बारे में जानकारी देता है।
  • इन वस्तुओं को स्थाई रूप से प्रदर्शित करने के अलावा विक्टोरिया मेमोरियल हाल अपने यहां तथा देश-विदेश के विभिन्न स्थानों में विशेष प्रदर्शनी, शिक्षा कार्यक्रम तथा संस्कृति, विरासत और पर्यावरण संबंधी कार्यक्रम आयोजित करता है।
  • विक्टोरिया मेमोरियल हाल अपने शोध फेलोशिप, पुस्तकालय संसाधन तथा अकादमी संसाधनों के जरिए शोध कार्य को बढ़ावा देता है।
  • सकारात्मक सामाजिक परिवर्तन को बढ़ावा देने के लिए यह गैर संग्रहालय संगठनों के माध्यम से दूरस्‍थ प्रसारी कार्यक्रम आयोजित करता है।
  • इसका हमेशा प्रयास रहा है और यह लोगों की मान्यता है कि विक्टोरिया मेमोरियल हाल बगैर चहारदीवारी का संग्रहालय है।

 

प्रमुख गतिविधियां

संग्रहालय

  • एक अवधि संग्रहालय है, जिसमें भारत- ब्रिटिश इतिहास पर खास बल दिया गया है।
  • यहां 28,394 कला वस्तुएं संग्रहित हैं, जिसमें तैल रंग चित्र, जलरंग चित्र, रेखा चित्र, लिथोग्राफ, फोटोग्राफ, डाक सामग्री, सिक्का एवं पदक, अस्त्र-शस्त्र, मूर्ति, पोशाक, व्यक्ति के स्मृति शेष आदि शामिल हैं।
  • इनमें से अनेक वस्तुएं 9 वीथियों में प्रदर्शित हैं। पूरे वर्ष अस्थायी प्रदर्शनियां होती रहती हैं।
  • हाल ही में रवीन्द्र भारती सोसाइटी से दीर्घकालीन रिण पर बंगाल कला शैली के 5,000 रंगचित्रों का अधिग्रहण किया गया है।
  • यह भारत का सर्वाधिक देखे जानेवाला संग्रहालय है। पूरे विश्व में भी यह सर्वाधिक देखे जानेवाला संग्रहालयों में से एक है। 

शिक्षा का केंद्र

  • यहां नियमित आधार पर कला, संस्कृति, इतिहास तथा विरासत पर व्याख्यान/ संगोष्ठी/ कार्यशालायें आयोजित होती हैं।
  • विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से महत्वपूर्ण राष्ट्रीय / अंतर्राष्ट्रीय दिवसों का पालन किया जाता है।
  • पुस्तकालय में अनेक दुर्लभ पुस्तकों समेत 15,000 पुस्तकें हैं। यहां का पुस्तकालय कला इतिहास तथा संग्रहालय विज्ञान का प्रमुख पुस्तकालय है।
  • संग्रहालय गतिविधियों में दर्शकों खासकर विद्यार्थियों को शामिल करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।
  • कलकत्ता के इतिहास पर यहां ध्वनि एवं प्रकाश के कार्यक्रम होते हैं (पुर्ननवीकरण किया जा रहा है)।

कला संरक्षण केंद्र

  • विक्टोरिया मेमोरियल हाल में पूर्ण सुसज्जित संरक्षण एवं पुनरुद्धार इकाइयां हैं।
  • संरक्षण एवं पुनरुद्धार के कार्य में अन्य संस्थानों को तकनीकी मदद भी दी जाती है।
  • हाल में ही पूर्वोत्तर के राज्यों के संग्रहालयों को तकनीकी सहायता दी गई है।
  • यहां नियमित रूप से मेमोरियल के कर्मिंयों तथा संग्रहालय के पेशेवरों के लिए प्रशिक्षण / कार्यशालायें आयोजित होती हैं।

मनोरंजन स्थल

  • विक्टोरिया मेमोरियल हाल तथा इसका बगीचा, कंकड़ीले रास्ते, तालाब आदि काफी सुन्दर एवं आकर्षक है।
  • भारतीय-सारासेनिक शैली में तैयार भव्य इमारत भी लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती है।
  • सिर्फ बगीचे में ही भारी संख्या में दर्शक आते हैं।

हमारे उपभोक्ता

  • दर्शक
  • विद्यार्थी
  • सुबह और शाम भ्रमण करनेवाले
  • शोध विद्वान
  • विभिन्न सांस्कृतिक क्षेत्रों यथा फिल्म, कला, चित्रकारी आदि से जुड़े विशिष्ट व्यकित।
  • विदेशी नागरिक

नागरिकों से अपेक्षायें

  • भारतीय नागरिकों से अपेक्षा है कि वे विक्टोरिया मेमोरियल हाल की कला वस्तुओं को देखने के बाद उनके बारे में अपना विचार दें तथा प्रदर्शनी और संरक्षण की वर्तमान प्रणाली में सुधार के के संबंध में सुझाव दें।

प्रकाशन (पेन्टिंग्स)

  • इंडिया एज सीन बाई सिम्पसन (5 प्रिन्ट का सेट)।
  • इंडिया इन द आइज ऑफ द डैनियल्स (प्रिन्ट का सेट)।
  • सिलेक्ट व्यूज ऑफ इंडिया (5 प्रिन्ट का सेट)।
  • चार्ल्स डॉयली कैलकटा – एलबम 1
  • चार्ल्स डॉयली कैलकटा – एलबम 2
  • नेचुरल हिस्ट्री पेन्टिंग्स : सीरिज -1
  • नेचुरल हिस्ट्री पेन्टिंग्स : सीरिज -2 
  • नेचुरल हिस्ट्री पेन्टिंग्स : सीरिज -3  
  • पिक्चर फोलियो न. -1
  • पिक्चर फोलियो न. -2
  • पिक्चर फोलियो न. -3 

प्रकाशन

  • माडर्न मास्टर्स
  • इंडिया : लैंड एंड पिपुल
  • मदर टेरेसा पर प्रदर्शनी का कैटलॉग
  • गगनेन्द्रनाथ टैगोर पर प्रदर्शनी का कैटलॉग
  • कृष्णा आइकॉनोग्राफिक रिप्रेजेन्टेशन्स प्रदर्शनी का कैटलॉग

 

स्मृति चिन्ह

  • मुगल लघु चित्र पर 10 पिक्चर पोस्ट कार्ड का एक सेट। 
  • विक्टोरिया मेमोरियल के संग्रह के चित्र युक्त 3 किस्म की की-रिंग।
  • विक्टोरिया मेमोरियल के संग्रह के चित्र युक्त 3 किस्म के कॉफी के मग।
  • सुरम्य गंगा
  • काली घाट पेन्टिंग्स का चित्र युक्त नोट बही
  • जामिनी राय की पेन्टिंग्स का 2 सेट पिक्चर पोस्ट कार्ड

 

विवरण हेतु कृपया संपर्क करें:

सचिव एवं संग्रहाध्यक्ष

विक्टोरिया मेमोरियल हाल, कोलकाता

फोन : 2223-5142 / 2223-1889

ई-मेल : victomem@gmail.com

Victoria Memorial Hall,Kolkata offers visitors free guided tours (35 - 40 Minutes) through the museum galleries [ Timings 10:00AM, 11:00AM, 12:00 PM, 1:00PM, 2:00PM, 3:00PM, 4:00PM, 5:00PM ]